रंजिश : दैनिक जागरण के पत्रकार और उसके भाई की गोली मारकर हत्या 

0
94
सहारनपुर : रविवार की सुबह गोबर डालने को लेकर हुए विवाद में दबंग पड़ोसी ने दैनिक जागरण के पत्रकार और उसके छोटे भाई की गोली मारकर हत्या कर दी। इस घटना से नाराज लोगों ने आरोपी के घर में तोड़-फोड़ और आग लगाने की कोशिश की, पर पुलिस ने लाठियां फटकार कर लोगों को भगा दिया। इस मामले में आरोपी परिवार की दो महिलाओं को हिरासत में लिया गया है। उधर, शासन ने परिवार को पांच-पांच लाख रुपये और घर देने का ऐलान किया है।

दैनिक जागरण में कार्यरत आशीष कुमार अपने परिवार के साथ कोतवाली नगर क्षेत्र के मोहल्ला माधवनगर में रहते थे। सामने ही महिपाल सैनी का मकान है। महिपाल मूल रूप से शामली जिले के झिंझाना का रहने वाला है। आशीष और महिपाल दोनों ही गाय पालते हैं। रविवार की सुबह बारिश के कारण दोनों के घरों का गोबर सड़क पर फैल गया। इस महिपाल सैनी ने आशीष की मां पर गोबर फैलाने का आरोप लगाते हुए उनके साथ गाली-गलौज कर दी। इसका आशीष का छोटा भाई आशुतोष ने विरोध किया तो महिपाल ने उसके सिर में डंडा मार दिया। इस पर वहां चीख-पुकार मच गई। शोर सुनकर आशीष भी मौके पर पहुंच गया। उसने महिपाल की इस हरकत का विरोध किया तो महिपाल ने उसके भी सिर में डंडा मार दिया। डंडा लगते ही उसके सिर से खून बहने लगा। वह लहूलुहान हो गया। इसके बाद आशीष के मामा राजेंद्र दोनों भाइयों को समझाकर घर के अंदर ले गए। इसके बाद महिपाल और उसका पुत्र गौरव सैनी तमंचा लेकर आशीष के घर में घुस गया। इसके बाद महिपाल ने आशुतोष पर निशाना साधकर गोली चला दी। गोली लगते ही आशुतोष की मौत हो गई। इसके बाद महिपाल ने आशीष के शरीर में तमंचा सटाकर गोली मार दी। आशीष की भी मौके पर ही मौत हो गई। माधव नगर में डबल मर्डर से सनसनी फैल गई। पत्रकार आशीष और उसके छोटे भाई की हत्या से लोगों में नारीजगी बढ़ने लगी। सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। इस बीच नाराज लोगों ने आरोपी महिपाल के घर में तोड़-फोड़ और आग लगाने की कोशिश की, पर पुलिस ने लाठियां फटकार कर उन्हें वहां से खदेड़ दिया। लोग आरोपी को अपने हवाले करने की मांग कर रहे थे। आशीष के मामा राजेन्द्र की ओर से छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है। आरोपी बाप-बेटे को पकड़ने के लिए पुलिस की कई टीम गठित की गई है। इस बीच सूचना पर एसएसपी समेत पुलिस के तमाम आधिकारी मौक पर पहुंचे। इन लोगों ने वहां मौजूद लोगों से घटना की जानकारी ली। पूछताछ में पता चला कि आशीष की पत्नी छह माह की गर्भवती है। दो साल पहले आशीष के पिता की बीमारी से मौत हो चुकी है। पुलिस ने आरोपी के परिवार की दो महिलाओं को हिरासत में लिया है। एसएसपी ने हत्‍यारों को जल्‍द गिरफ्तार कर लेने का दावा किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लिया है। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

इस बीच शासन ने मृतकों के परिवार को पांच-पांच लाख रुपये मुआवजा तथा घर देने का ऐलान किया है। डीएम सहारनपुर ने शासन के इस मंशा की पुष्टि की है। उधर, पत्रकार की मां की हालत खराब है। उनका घर पर ही इलाज किया जा रहा है।

गौरतलब है कि इस दोहरे हत्याकांड के बाद पत्रकार आशीष के परिवार में अब कोई पुरुष सदस्य नहीं है। अब परिवार में सिर्फ आशीष की बूढ़ी दादी, मां और उसकी पत्नी ही बची है। आशीष की पत्नी गर्भवती है। इस मामूली रंजिश ने इन तीनों महिलाओं का एकमात्र सहारा छीन लिया।