बिजनौर में बेकाबू टैंकर ने दो ट्रकों में मारी टक्कर, पांच लोगों की मौत

0
9
बिजनौर : जनपद में बुधवार की रात 11 बजे झालू मार्ग पर काली मंदिर के पास बाईपास चौराहे पर शीरे से भरे टैंकर ने दो ट्रकों में टक्कर मार दी। इस दौरान ट्रक की टंकी फटने से सड़क पर तेल फैल गया और आग लग गई। मौके पर पहुंचे एसपी ने टैंकर में फंसे मजदूरों और टैंकर चालक को बाहर निकाला। इस हादसे में टैंकर चालक और उसमें सवार चार मजदूरों की मौत हो गई, जबकि पांच लोग घायल हो गए। सभी घायलों की हालत गंभीर है। उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पांच लोगों की मौत से परिजनों में कोहराम मचा है।

जानकारी के अनुसार

धामपुर थाना क्षेत्र के गांव मिलकमुकीमपुर निवासी राम सिंह का 28 साल का पुत्र जौनी, अशोक कुमार का 28 साल का पुत्र राहुल, गंगाराम का 27 साल का पुत्र प्रमोद, 55 वर्षीय रघुवीर सिंह, 30 वर्षीय अमित कुमार, 27 वर्षीय मुकेश और 30 वर्षीय विनेश मुजफ्फरनगर में भोपा रोड पर स्थित अग्रवाल पेपर मिल में मजदूरी करते थे। बुधवार की रात सभी मजदूर दस दिनों की छुट्टी लेकर घर जा रहे थे। इसके लिए सभी मजदूर मुजफ्फरनगर से धामपुर शुगर मिल जा रहे शीरे के टैंकर में सवार हो गए। टैंकर अफजलगढ़ थाने के गांव पर्वतपुर निवासी विजय का 29 वर्षीय पुत्र पदम उर्फ पंकज चला रहा था। झालू मार्ग पर काली मंदिर के पास बाईपास चौराहे पर बिजनौर की तरफ से जा रहा टैंकर पहले मुरादाबाद से कोयले से लदे ट्रक से टकराने के बाद बैराज की तरफ से बाईपास मार्ग पर आ रहे रेत से लदे 22 टायरा ट्रक से टकरा गया। टैंकर में सवार जौनी, राहुल, प्रमोद, रघुवीर, चालक पदम उर्फ पंकज की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि अमित, विनेश व मुकेश के अलावा रेत से लदे ट्रक का चालक मुजफ्फरनगर जिले के शाहपुर थाना क्षेत्र के गांव अब्दुलपुर निवासी मोबिन और हेल्पर सहारनपुर जिले के देवबंद थाना क्षेत्र के गांव दांडी धामना निवासी विकास घायल हो गए। सूचना पर एसपी संजीव त्यागी समेत सभी अफसर मौके पर पहुंचे। उन्होंने मृतकों व घायलों को वाहनों से बाहर निकाला।
शहर कोतवाल रमेश चंद शर्मा के अनुसार हादसे में टैंकर से तेल की निकल कर सड़क पर फैल गया, जबकि रेत से भरे ट्रक की टंकी भी फट गई। तेल सड़क पर बिखरने से आग लग गई। एसपी संजीव त्यागी व पुलिसकर्मी आग बुझाने के साथ ही मृतकों व घायलों को निकालने में जुट गए। वाहनों औरआग से एसपी संजीव त्यागी, पीआरओ अरविंद कुमार, सिपाही अश्वनी कक्कड, आकाश धामा, अजय कुमार, धीरेंद्र प्रताप सीओ सिटी अरुण कुमार के साथ आए सिपाही सुलभ राणा, संदीप कुमार व सुधीर कुमार झुलस गए। डीएम रमा कांत पांडेय अफसरों के साथ जिला अस्पताल पहुंचे व अंतिम संस्कार के लिए मृतकों के परिजनों को 20-20 हजार रुपये दिए। बाकी मदद बाद में कराने का भरोसा दिलाया। जिला पंचायत अध्यक्ष साकेंद्र चौधरी ने भी अस्पताल पहुंचकर मृतकों के परिजनों को ढांढस बंधाया।
एसपी संजीव त्यागी घायलों के लिए देवदूत बनकर पहुंचे। उन्होंने आग की परवाह किए बगैर टैंकर के अंदर घुस गए और खुद ही टैंकर में फंसे मृत मजदूरों और घायलों को निकालने लगे। यह देख पुलिसकर्मी हक्के-बक्के रह गए। इसके बाद ही अन्य पुलिसकर्मी भी मदद के लिए दौड़े। एसपी साहस नहीं दिखाते तो कई घायलों की भी जान जा सकती थी।
एसपी संजीव त्यागी हादसे की सूचना पर जब मौके पर पहुंचे तो टैंकर के अगले हिस्से को आग लगी हुई थी, जबकि टैंकर चालक और मजदूर टैंकर में फंसे हुए थे। उन्होंने अग्निशमन विभाग की टीम को मौके पर बुलाया। टीम के आने से पहले ही एसपी खुद मृतकों व घायलों को टैंकर से निकालने में जुट गए। एक-एक घायल व मृतक को उन्होंने खुद ही निकाला। इसके बाद ही घायलों को निजी अस्पताल में पहुंचा गया। ट्रक के घायल चालक और हेल्पर को भी निकालकर अस्पताल भेजा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here