बेटा-बेटी के साथ महिला ने लगा दी नदी में छलांग, दोनों बच्चों की मौत

0
95
बेतिया : पारिवारिक कलह से परेशान एक महिला ने गुरुवार की सुबह दो बच्चों को कमर में बांध गंडक नदी में छलांग लगा दी। हालांकि नदी के तट पर मौजूद लोगों ने महिला को बचा लिया, लेकिन इस घटना में दोनों बच्चों की डूबने से मौत हो गई।
यह घटना गंडक बराज के पास नेपाली क्षेत्र में शून्य आरडी के निकट घटी है।
नेपाल के पालीनंदन गांव पालिका वार्ड नंबर 05, नवल परासी निवासी लखीचंद लोहार की 24 वर्षीय पत्नी सुधा विश्वकर्मा गृह कलह से तंग आकर एक वर्षीय पुत्री निकिता और दो वर्षीय पुत्र अविनाश के साथ गंडक नदी के किनारे पहुंच गई। उसने दोनों बच्चों को कमर से बांधकर नदी में छलांग लगा दी। वहां मौजूद लोगों ने महिला को नदी में छलांग लगाते हुए देखकर शोर मचा दिया। इस पर कुछ साहसी युवकों ने नदी में छलांग लगाकर महिला को उसके दोनों बच्चों के साथ बाहर निकाल लिया। दोनों बचचे महिला के शरीर में उसी तरह से बंधे थे, जैसे महिला ने दोनों को बांधा था। इस घटना में महिला की जान तो बच गई, पर उसके दोनों बच्चों की पानी में डूब जाने के कारण मौत हो चुकी थी। सूचना पर पहुंची नेपाली पुलिस के त्रिवेणी चौकी इंचार्ज कृष्ण साह ने बताया कि घटना का कारण पारिवारिक विवाद बताया जा रहा है। नेपाल पुलिस ने महिला को गिरफ्तार कर लिया है। उसके पति को भी हिरासत में ले लिया है। दोनों से पूछताछ चल रही है। पड़ोसियों ने बताया कि पिछले कई महीने से पति-पत्नी में विवाद चल रहा था। आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण पति-पत्नी के बीच हर रोज झगड़ा होता था। इससे परेशान होकर महिला अपने दोनों बच्चों के साथ गंडक नदी में कूद गई।