मेरठ में बवाल : बदर अली पर पांच हजार का इनाम, संपत्ति भी होगी जब्त 

0
78
मेरठ : बीते रविवार को बिना अनुमति के जुलूस निकालने के मामले में वांछित चल रहे आरोपी बदर अली पर पुलिस ने बुधवार को पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। बुधवार को पदभार संभालने के बाद नवनियुक्‍त एसएसपी अजय साहनी ने पुलिस लाइन में पत्रकारों से बातचीत के दौरान बदर अली पर पांच हजार रुपये का इनाम घोषित किए जाने की जानकारी दी। साथ ही उसकी हिस्‍ट्रीशीट खोले जाने की बात भी कही। इसके अलावा गैंगस्‍टर एक्ट के तहत कार्रवाई करते हुए उसकी संपत्ति जब्त करने का ऐलान भी किया। एसएसपी ने यह भी कहा कि इसी मामले में शहर काजी पर कार्रवाई के लिए पुलिस सुबूत एकत्र कर रही है। एसएसपी ने कहा कि किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा।
गौरतलब है कि मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं के विरोध में युवा सेवा समिति ने एक सप्ताह पहले यह तय कर लिया था कि 30 जून को फैज-ए-आम कालेज से हापुड़ अड्डे तक पैदल मार्च निकाला जाएगा। दूसरी ओर पुलिस-प्रशासन पैदल मार्च के आयोजकों को धमकाकर कार्यक्रम को रद कराना चाह रहा था। तीन दिन से इसके लिए लिखित व मौखिक चेतावनी भी दी जा रही थी, लेकिन सब बेकार रही। शाम होते-होते हालात बिगड़ते चले गए। बीते रविवार की सुबह ही पुलिस ने युवा सेवा समिति के अध्यक्ष बदर अली को नोटिस जारी कर दिया था। बावजूद इसके दोपहर से ही कालेज में पैदल मार्च के लिए भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। नतीजा यह रहा कि शांतिपूर्वक प्रस्तावित आयोजन शाम होते-होते अशांति मार्च में तब्दील हो गया। देर रात एक दर्जन लोगों को हिरासत में ले लिया गया।

कार्यक्रम को रद कराना चाह रहा था। तीन दिन से इसके लिए लिखित व मौखिक चेतावनी भी दी जा रही थी, लेकिन सब बेकार रही। शाम होते-होते हालात बिगड़ते चले गए। बीते रविवार की सुबह ही पुलिस ने युवा सेवा समिति के अध्यक्ष बदर अली को नोटिस जारी कर दिया था। बावजूद इसके दोपहर से ही कालेज में पैदल मार्च के लिए भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। नतीजा यह रहा कि शांतिपूर्वक प्रस्तावित आयोजन शाम होते-होते अशांति मार्च में तब्दील हो गया। देर रात एक दर्जन लोगों को हिरासत में ले लिया गया।