मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से अब तक बारह बच्चों की मौत

0
90
मुजफ्फरपुर : चमकी बुखार से पिछले 24 घंटे में चार और बच्चों की मौत हो गई है, जबकि एक दर्जन नए मरीजों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। गुरुवार को एसकेएमसीएच में एईएस से पीड़ित आठ बच्चों को आईसीयू में भर्ती किया गया था। इनमें से तीन बच्चों की इलाज के दौरान मौत हो गई। मरने वाले बच्चों में सरैया चकना का दो वर्षीय रंजन कुमार, सरैया की दो वर्षीय ज्योति और सुबोध कुमार शामिल हैं। उधर, निजी केजरीवाल अस्पातल में भर्ती रागिनी की मौत हो गई। चमकी बुखार से अब तक 12 बच्चों मौत हो गई है।
श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पीटल में इलाज के लिए भर्ती हुए बच्चों में वैशाली भगवानपुर कितूपुर की पांच वर्षीय रीमा, बोचहां के प्रमोद ठाकुर का साढ़े तीन वर्षीय पुत्र सुमन कुमार, गायघाट जाता पछियारी निवासी रामबृक्ष महतो की पांच वर्षीय पुत्री सोनम कुमारी, मीनापुर हरपुर की साढ़े पांच वर्षीय बच्ची प्रियांशु कुमारी, अहियापुर मुस्तफापुर के मो. हलीम की पांच वर्षीय पुत्री फरजाना खातून, मो. जहूर की चार वर्षीय पुत्री शहनाज और मेहसी (मोतिहारी) निवासी मो. रहमान की तीन वर्षीय पुत्री सानिया शामिल हैं। केजरीवाल अस्पताल में भी गुरुवार को आधा दर्जन बच्चों को भर्ती कराया गया है। भर्ती बच्चों की जांच में पता चला कि इनमें ग्लूकोज की मात्रा काफी कम है। इसके बाद इनके ब्लड सैंपल को उच्चस्तरीय जांच के लिए भेजा गया है, जबकि सानिया, फरजाना खातून, शहनाज और प्रियांशु को एईएस से पीड़ित होने की चिकित्सकों ने पुष्टि की है। एसकेएमसीएच में इस वर्ष अस्पताल के दस्तावेज के अनुसार एईएस पीड़ित बच्चों की संख्या 27 पर पहुंच चुकी है। जांच में इन बच्चों में एईएस की पुष्टि होने के बाद सरकार को रिपोर्ट भेज दी गई है। इनमें से दो मरीजों के जापानी इंसेफेलाइटिस से पीड़ित होने की पुष्टि हुई है। इससे पहले एईएस से आठ बच्चों की मौत हो गई है। इस तरह एईएस से अभी तक 12 बच्चों की मौत हो गई है।