जम्‍मू में भाजपा के राज्य सचिव की भाई समेत हत्या, किश्तवाड़ में कर्फ्यू

0
269
जम्मू : आतंकियों ने जम्मू संभाग के किश्तवाड़ जिले में गुरुवार की रात भाजपा के राज्य सचिव अनिल परिहार और उनके भाई अजीत परिहार की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी। हमले के लिए आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को जिम्मेदार माना जा रहा है। इस बीच, अनिल परिहार की हत्या के बाद रात को किश्तवाड़ में माहौल तनावपूर्ण हो गया। लोग सड़कों पर उतरकर विरोध प्रदर्शन करने लगे। वारदात के विरोध में भद्रवाह तहसील में भी प्रदर्शन शुरू हो गया। हालात को बिगड़ते देख प्रशासन ने रात को किश्तवाड़ में कर्फ्यू लगा दिया तथा पूरे इलाके में भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात कर दिया गया।
जानकारी के अनुसार गुरुवार की रात करीब नौ बजे अपनी स्टेशनरी की दुकान बंद कर रहे अनिल परिहार और उनके भाई अजीत परिहार पर आतंकियों ने हमला कर दिया। इस हमले में अनिल की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि अजीत गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उन्होंने भी दम तोड़ दिया। हमले के बाद कस्बे में अफरातफरी का माहौल हो गया। हमला कर भाग निकले आतंकियों की धरपकड़ के लिए सेना, सुरक्षाबलों ने क्षेत्र में तलाशी अभियान छेड़ दिया।
गौरतलब है कि किश्तवाड़ में लंबे अरसे बाद आतंकियों ने कोई बड़ा हमला किया है। किश्तवाड़ जिले की कुछ पंचायतों में पहले चरण में 17 नवंबर को मतदान होना है। ऐसे में क्षेत्र में राजनीतिक सरगर्मियां जोर-शोर से जारी थी। अनिल परिहार भी चुनावी तैयारियों में सक्रिय भूमिका निभा रहे थे। इसके अलावा वे
देश विरोधी तत्वों के खिलाफ आवाज बुलंद करने के साथ ही क्षेत्र में भाजपा की तिरंगा यात्राओं में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते थे। ऐसे में वह देशविरोधी तत्वों के निशाने पर थे। अनिल परिहार करीब तीस साल से भाजपा से जुड़े थे। इस वर्ष जुलाई में नए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष रविंद्र रैना ने राज्य इकाई का पुनर्गठन कर अनिल को प्रदेश सचिव के रूप में भाजपा की टीम में शामिल किया था। कुछ अरसे के लिए अनिल पैंथर्स पार्टी में भी रहे हैं।
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष रविंद्र रैना ने भाजपा नेता अनिल परिहार और उनके भाई पर हमले की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि हमले के लिए जिम्मेदार लश्कर-ए-तैयबा और उसके सरगना हाफिज सईद से बदला लिया जाएगा।
एनसीपी के उमर अब्दुल्ला ने भी अनिल परिहार की मौत पर दुख जताते हुए संवेदना व्यक्त की। उमर ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘यह एक बुरी खबर है। मेरी संवेदनाएं अनिल और अजीत परिहार के परिवार और उनके साथियों के साथ है। ईश्वर दोनों ही मृत आत्माओं को शांति दें।’