बागपत के जिला अस्पताल में भर्ती नर्सिंग की छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म

0
276
बागपत : जिला अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती नर्सिंग की छात्रा के साथ सोमवार की देर रात वार्ड ब्वॉय और प्रशिक्षु डीफार्मा के छात्र ने दुष्कर्म किया। इस बीच मौके पर पहुंचे डॉकटर ने करीब तीन घंटे तक मामले को रफा-दफा करने का प्रयास किया। पीड़िता के नहीं मानने पर दोनों आरोपित वहां से भाग निकले। डॉक्टर की सूचना पर अस्पताल पहुंचे एसपी ने मौका मुआयना किया। बाद में दोनों आरोपितों ने थाने पहुंच कर खुद ही सरेंडर कर दिया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया।
बागपत कोतवाली क्षेत्र के एक गांव की युवती क्षेत्र के एक कॉलेज से जनरल नर्सिंग एवं मिडवाइफरी का कोर्स कर रही है। बुखार और सिर दर्द की शिकायत पर सोमवार को दोपहर बाद तीन बजे परिवार के लोगों ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया। देर रात तीमारदारी कर रही उसकी बहन चाय लानेे के लिए अपने जीजा के पास चली गई। उसका जीजा हॉस्पिटल में ही एंबुलेंस चलाता है। आरोप है कि इस दौरान अस्पताल में आउट सोर्सिंग पर तैनात गाधी गांव निवासी वार्ड ब्वॉय यतेंद्र उर्फ भूरा, इमरजेंसी वार्ड में भर्ती इस्लाम को भाप देने के बहाने इमरजेंसी कक्ष में ले गया। इसके बाद वार्ड में छात्रा अकेली रह गई। मौका देखकर भूरा ने अस्पताल में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे डीफार्मा के छात्र दिलशाद निवासी तेड़ा के साथ मिलकर छात्रा को नशे का इंजेक्शन लगा दिया तथा दोनों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। छात्रा की बहन अपने जीजा के साथ वार्ड में पहुंची तो उन दोनों ने दिलशाद को छात्रा के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया। घटना की जानकारी रात करीब एक बजे इमरजेंसी में कार्यरत डॉक्टर भूपेंद्र सिंह को दी गई। करीब तीन घंटे तक मामले को रफा-दफा करने का प्रयास चलता रहा। बात न बनी तो डॉक्टर ने करीब सवा चार बजे पुलिस कंट्रोल रूम (100) को कॉल कर घटना की जानकारी दी।
एसपी बागप

शैलेश पांडेय ने बताया कि पीड़िता का मेडिकल करा दिया गया है। इसके बाद पीड़िता के अदालत में 164 के बयान दर्ज कराए जाएंगे। दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। युवती की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया है।
सीएमओ डा. सुषमा चंद्रा ने बताया कि
दोनों आरोपितों को हॉस्पिटल से निकाल दिया गया है। साथ ही विभागीय जांच बैठा दी गई है।