आगरा में पकड़े गए 16 रोहिंग्या, खुफिया एजेंसियां कर रहीं पूछताछ

0
286
आगरा : स्थानीय फोर्ट रेलवे स्टेशन पर पुलिस ने 16 रोहिंग्या को पकड़ा है। उन्हें पूछताछ के लिए थाना रकाबगंज में रखा गया है। पकड़े गए लोगों में महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। ये लोग पश्चिम बंगाल से आगरा आए हैं।
बता दें कि ये सभी लोग म्यामांर (बर्मा) के आइकफ जिले के रहने वाले हैं। तून साल पहले ये लोग बांग्लादेश के रास्ते कोलकाता (भारत) में आ गए थे। वहां से से हैदराबाद चले गए थे। वहां से उन्हें आगरा आना था, लेकिन इन लोगों ने गलत ट्रेन में बैठ ली, जिस कारण ये लोग फिर से कोलकाता पहुंच गए। वहां पर पुलिस ने इन लोगों को पकड़ कर आगरा की ट्रेन में बैठा दिया। आगरा फोर्ट पर उतरने के बाद इन लोगों को जीआरपी ने पकड़ लिया। पूछताछ में पता चला है कि रुनकता में मोहम्मद आरिफ और उसका परिवार कई साल से रह रहा है। रोहिंग्या लोग उसी के पास जा रहे थे। इनका कहना है कि वे सभी म्यांमार के रहने वाले हैं तथा आगरा में काम की तलाश में आए हैं। इनमें सात लोगों को पूछताछ के लिए थाने में बैठाया लिया गया है। एलआईयू और खुफिया एजेंसियों ने इनसे पूछताछ की है। पकड़े गए सभी 16 रोहिंग्या म्यामांर (बर्मा) के आइकफ जिले के रहने वाले हैं। तीन साल पहले घर से निकले थे। बांग्लादेश में कई दिनों तक रहने के बाद इन लोगों ने पश्चिम बंगाल के कई जिलों को अपना ठिकाना बनाया। वहां से ये लोग हैदराबाद चले गए। हैदराबाद से ये लोग फिर कोलकाता चले गए। कोलकाता में इन लोगों ने कबाड़ का काम किया। काम खत्म होने के बाद ये लोग आगरा आ गए। यहां पर फोर्ट स्टेशन पर उतरकर ये लोग रुनकता में रहने वाले आरिफ़ के पास जा रहे थे। पकड़े गए लोगों के पास से शरणार्थी कार्ड मिला है, जिनका सत्यापन किया जा रहा है ।